कोरोना: 85 प्रतिशत मरीजों को नहीं पड़ती रेमेडिसविर और स्टेरॉयड की जरूरत: डॉ रणदीप गुलेरिया - www.fxnmedia.com

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

गुरुवार, 22 अप्रैल 2021

कोरोना: 85 प्रतिशत मरीजों को नहीं पड़ती रेमेडिसविर और स्टेरॉयड की जरूरत: डॉ रणदीप गुलेरिया

 


एम्स के निदेशक डॉ. रणदीप गुलेरिया, नारायण हेल्थ के अध्यक्ष डॉ. देवी शेट्टी और मेदांता के अध्यक्ष डॉ नरेश त्रेहन ने लोगों को कोरोना की जानकारी दी. रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कम से कम 85 प्रतिशत लोगों को कोरोना संक्रमण होने पर रेमेडिसविर, या स्टेरॉयड की जरूरत नहीं होती है. उन्होंने कहा अधिकांश मरीजों में पांच से सात दिनों में एक सामान्य सर्दी, शरीर में दर्द, बुखार और गले में खराश जैसी परेशानियां हो सकती हैं.

रणदीप गुलेरिया ने कहा कि कई मरीज केवल घर में उपचार के साथ ठीक हो जाएंगे. उनका कहना है कि 85 प्रतिशत मरीज सिर्फ पैरासिटामोल , अपने नियमित व्यायाम के दौरान खुद को हाइड्रेटेड रखने, विटामिन लेने और बस अपने स्वास्थ्य के बारे में सकारात्मक रहने से ही ठीक हो सकते हैं. केवल 15 प्रतिशत मरीज ऐसे हैं जिन्हें कोरोना संक्रमण होने पर रेमेडिसविर, या स्टेरॉयड की जरूरत होती है. ऐसे मरीज जिनका ऑक्सीजन लेवल गिर सकता है या ज्यादा बुखार हो सकता है. उन्हें निगरानी और देखभाल की आवश्यकता होती है.

कोई भी लक्षण होने पर कराएं कोरोना जांच

डॉ. देवी शेट्टी ने कहा कि अगर किसी को शरीर में दर्द, बुखार, सर्दी, खांसी, अपच, दस्त या उल्टी जैसे लक्षण हैं, तो उसे कोविड -19 का परीक्षण करवाना चाहिए. अगर आप एक ही दिन में परीक्षण नहीं करवा पा रहे हैं, तो अपने आप को अलग कर लेना चाहिए. अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपके सकारात्मक होते पर अपका पूरा परिवार संक्रमित हो जाएगा.

हर घर में हो ऑक्सीमीटर

उन्होंने कहा कि इस महामारी के दौर में हर घर में कम से कम एक या दो पल्स ऑक्सीमीटर होने चाहिए. ओसेमेटर्स बहुत विश्वसनीय है. छह घंटे में कम से कम एक बार अपने ऑक्सीजन संतृप्ति की जांच करें. फिर छह मिनट के लिए चलें, और फिर से जांच करें. अगर आपकी ऑक्सीजन संतृप्ति लगभग 94 प्रतिशत है, तो कोई समस्या नहीं है. लेकिन अगर यह अभ्यास के बाद गिर रहा है, तो आपको अपने डॉक्टर को कॉल करने की आवश्यकता है.

एम्स निदेशक ने कहा कि कोरोना वैक्सीन ने लोगों को गंभीर बीमारी होने से रोक दिया, हालांकि यह संक्रमण को रोक नहीं सकता है. डॉ. गुलेरिया ने बताया कि टीकाकरण के बाद भी मास्क और कोविड उपयुक्त व्यवहार आवश्यक हैं.

कोरोना की चपेट में कांग्रेस के दो और नेता, राजीव सातव और रेणुका चौधरी हुए संक्रमित

'तय कोटे के अनुसार ही राज्यों को की जा रही ऑक्सीजन की सप्लाई', हरियाणा के CM मनोहरलाल खट्टर का आश्वासन

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages