बिहार फतह के बाद BJP का फोकस बंगाल पर, केंद्रीय नेताओं ने संभाली कमान, आज होगी अहम बैठक - www.fxnmedia.com

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Monday, November 16, 2020

बिहार फतह के बाद BJP का फोकस बंगाल पर, केंद्रीय नेताओं ने संभाली कमान, आज होगी अहम बैठक

 

बिहार फतह के बाद BJP का पूरा फोकस अब पश्चिम बंगाल (West Bengal) पर है. अगले साल 2021 के विधानसभा चुनाव (Assembly Election) के लिए पार्टी पूरी तरह से तैयारियों में जुट गई है. चुनावी तैयारी की पूरी बागडोर केंद्रीय नेतृत्व (Central Leadership) ने अपने हाथों में ले ली है. विधानसभा चुनाव की रणनीति तय करने और तैयारियों को लेकर 17 नवम्बर, मंगलवार को कोलकाता में BJP की महत्वपूर्ण बैठक होने जा रही है.

कोलकाता में होने वाली इस बैठक में BJP के केंद्रीय नेता और पार्टी महासचिव बीएल संतोष, पार्टी महासचिव और केंद्रीय प्रभारी कैलाश विजयवर्गीय, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मुकुल रॉय (Mukul Roy), बंगाल के सह प्रभारी अरविंद मेनन और अमित मालवीय पार्टी की संगठन शक्ति (Organizational strength) की समीक्षा करेंगे और चुनावी रणनीति तय करेंगे.

BJP संगठन में किए गए ये फेरबदल

हाल में पार्टी ने संगठन स्तर पर कई फेरबदल किए हैं. पश्चिम बंगाल के महासचिव (संगठन) सुब्रत चटर्जी को हटा कर अमिताभ चक्रवर्ती (Amitabh Chakarborty) को संगठन का दायित्व सौंपा गया है. बीजेपी के आईटी सेल के राष्ट्रीय प्रमुख अमित मालवीय को पार्टी का केंद्रीय सह प्रभारी (Central co-in-charge) बनाया गया है.

ये भी पढ़ें – बिहार चुनाव-उपचुनावों में हार की समीक्षा करेगी कांग्रेस, सोनिया गांधी ने आज बुलाई सलाहकारों की बैठक

अमित मालवीय (Amit Malaviya) की नियुक्ति इस बात की ओर इशारा कर रही है कि विधानसभा चुनाव की जंग सोशल मीडिया पर भी आक्रामक तरीके से लड़ी जाएगी. कोलकाता पहुंचने के बाद ही अमित मालवीय ने ममता बनर्जी की सरकार (Mamata Banerjee govt) पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा था कि अब ममता बनर्जी की सरकार की विदाई तय है.

केंद्रीय स्तर के नेता को मिलेगा हर जोन का दायित्व

विधानसभा चुनाव के मद्देनजर बीजेपी के केंद्रीय नेतृत्व ने कमान संभाल ली है. केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) और राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा (JP Nadda) ने खुद बंगाल का दौरा किया और बंगाल बीजेपी को 200 से ज्यादा सीटें जीतने का लक्ष्य दिया है. अमित शाह ने बंगाल दौरे के दौरान साफ कहा था कि अगर बंगाल बीजेपी (Bengal BJP) केंद्र के निर्देश के अनुसार काम करती है, तो 200 से ज्यादा सीटों पर जीत हासिल करने से कोई नहीं रोक सकता.

बीजेपी के वरिष्ठ पदाधिकारी का कहना है कि संगठन के आधार पर बंगाल बीजेपी के पांच जोन (Zone) हैं. प्रत्येक जोन का दायित्व एक केंद्रीय स्तर के नेता को दिए जाने की संभावना है. केंद्रीय स्तर के नेता ही उस जोन की गतिविधियों की निगरानी करेंगे और केंद्रीय नेतृत्व को रिपोर्ट देंगे.

हमलावर हुई BJP, सोशल मीडिया पर भी होगा जोर

बीजेपी सत्तारूढ़ दल के खिलाफ हमलावार होना शुरू हो गई है. भ्रष्टाचार, तुष्टिकरण की नीति (Appeasement policy), कानून व्यवस्था की स्थिति, परिवारवाद, उद्योग और निवेश का अभाव जैसे मुद्दों को लेकर बीजेपी ने TMC के साथ-साथ ममता बनर्जी और उनके विधायक भतीजे अभिषेक बनर्जी पर हमला बोलना शुरू कर दिया है.

ये भी पढ़ें – पंजाब विधानसभा चुनाव 2022 अकेले लड़ेगी बीजेपी, अकाली दल से गठबंधन टूटने के दो महीने बाद ऐलान

इसके साथ ही अमित मालवीय को बंगाल का प्रभार देने से साफ है कि विधानसभा चुनाव की जंग बीजेपी सोशल मीडिया (Social media) के मैदान पर भी लड़ेगी. बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष (Dilip Ghosh) ने इसे स्वीकार करते कहते हैं कि बंगाल में लड़े गए पिछले 2-3 चुनावों में मालवीय ने सोशल मीडिया और आईटी रणनीतियों को मैनेज किया. वह बंगाल के मुद्दों को जानते हैं. उनका आगमन पार्टी के स्टेट यूनिट के आईटी विंग को और मजबूत करेगा.

बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत बनाने पर जोर

पार्टी के वरिष्ठ नेता कहते हैं कि पार्टी दो स्तर पर काम करेगी. पार्टी की पहली प्राथमिकता होगी बूथ स्तर पर पार्टी को मजबूत बनाना और हर एक बूथ (Booth) पर कम से कम पांच एक्टिव कार्यकर्ता को तैयार करना होगा. संगठन को मजबूत करने के साथ-साथ केंद्रीय स्तर के साथ-साथ स्थानीय स्तर पर तृणमूल कांग्रेस (TMC) के नेताओं पर हमला बोलना भी एक रणनीति होगी. केवल आलोचना नहीं, बल्कि बीजेपी बंगाल में क्या करने वाली है, इसे भी जनता के सामने ले जाना होगा.

No comments:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages