देश का शातिर भगोड़ा किसी भी समय मुंबई पहुंच सकता है विजय माल्या सरकार की बड़ी कामयाबी - www.fxnmedia.com

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

बुधवार, 3 जून 2020

देश का शातिर भगोड़ा किसी भी समय मुंबई पहुंच सकता है विजय माल्या सरकार की बड़ी कामयाबी






नई दिल्ली। नौ हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी करके लंदन में जा छिपा कारोबारी विजय माल्या किसी भी समय भारत पहुंच सकता है। उसके लिए ऑर्थर रोड जेल में रखे जाने की व्यवस्था की गयी है। ऐसा बताया जा रहा है कि उसे लंदन से सीधे मुंबई लाया जा रहा है क्यों कि उसके खिलाफ मुंबई में मुकदमा दर्ज है। हवाई अड्डे से उसे सीधे सीबीआई रीजनल ऑफिस ले जाया जायेगा। वहीं से उसे कोर्ट के सामने पेश किया जाएगा।



ब्रिटेन की हाईकोर्ट ने 14 मई को माल्या के भारत प्रत्यर्पण पर आखिरी मुहर लगाई थी। नियम के अनुसार, भारत सरकार को माल्या को उस तारीख से 28 दिन के अंदर यूके से ले आना है। ऐसे में 20 दिन गुजर चुके हैं। उधर, प्रत्यर्पण की सारी कानूनी प्रक्रिया भी पूरी हो चुकी है। ऐसे में माल्या को कभी भी भारत लाया जा सकता है।
माल्या के मुंबई पहुंचते ही मेडिकल टीम उसकी सेहत की जांच करेगी। सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (सीबीआई) और प्रवर्तन निदेशालय (एन्फोर्मसमेंट डायरेक्टरेट यानी ईडी) के कुछ अधिकारी विमान पर माल्या के साथ होंगे। अगर माल्या दिन में भारत पहुंचेगा तो उसे एयरपोर्ट से सीधे कोर्ट ले जाया जाएगा। सूत्रों ने बताया कि कोर्ट में सीबीआई और ईडी, दोनों एजेंसियां उसकी रिमांड की मांग करेंगी।



ब्रिटिश अदालत ने अगस्त 2018 में माल्या की याचिका पर सुनवाई करते हुए भारतीय जांच एजेंसियों से उस जेल का विस्तृत ब्योरा मांगा था जहां प्रत्यर्पण के बाद माल्या को रखा जाएगा। तब एजेंसियों ने मुंबई स्थित ऑर्थर रोड जेल की एक सेल का वीडियो कोर्ट को सौंपा था जहां माल्या को भारत लाए जाने पर रखने जाने की योजना है। ऑर्थर रोड जेल में अंडरवर्ल्ड से जुड़े कई कुख्यात अपराधियों, मसलन अबू सलेम, छोटा राजन, मुस्तफा दोसा को रखा गया। 


पाकिस्तानी आतंकवादी अजमल कसाब को भी बेहद कड़ी सुरक्षा में इसी जेल में रखा गया था। वहीं, शीन बोरा मर्डर केस के आरोपी पीटर मुखर्जी और पंजाब नैशनल बैंक (पीएनबी) को 13,500 करोड़ रुपये का चूना लगाने वाला विपुल अंबानी भी इस जेल की हवा खा चुका है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages