राहुल द्रविड़ की कप्तानी में इतिहास रचने वाले इस भारतीय क्रिकेटर ने की आत्महत्या - www.fxnmedia.com

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Friday, October 9, 2020

राहुल द्रविड़ की कप्तानी में इतिहास रचने वाले इस भारतीय क्रिकेटर ने की आत्महत्या

 


नई दिल्ली. भारतीय क्रिकेट टीम के दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्र​विड़ (Rahul Dravid) की कप्तानी में खेल चुके केरल (Kerala) के क्रिकेटर एम. सुरेश कुमार (M. Suresh Kumar) ने कथित रूप से आत्महत्या कर ली है. उंबरी के नाम से लोकप्रिय सुरेश कुमार ने साल 1990 में भारत की अंडर19 क्रिकेट टीम (Indian under19 cricket team) में केरल का प्रतिनिधित्व करने वाला पहला क्रिकेटर बनकर इतिहास रच दिया था. आत्महत्या के कारणों का पता नहीं चल सका है. इस मामले में पुलिस की जांच जारी है.



1990 में स्टीफन फ्लेमिंग के खिलाफ खेले थे न्यूजीलैंड में
स्पिनर सुरेश कुमार ने जब साल 1990 में न्यूजीलैंड के खिलाफ डेब्यू किया था. उस समय भारत की अंडर19 क्रिकेट टीम की कमान राहुल द्रविड़ के हाथों में थी. तब सुरेश कुमार इंडियन प्रीमियर लीग की टीम चेन्रई सुपरकिंग्स के कोच और न्यूजीलैंड के पूर्व कप्तान स्टीफन फ्लेमिंग व तेज गेंदबाज डियोन नैश के खिलाफ मैदान में उतरे थे. सुरेश कुमार अलपुझा के रहने वाले थे. उनका शव घर में लटका मिला.

रणजी ट्रॉफी में हैट्रिक



क्रिकट्रैकर क रिपोर्ट के अनुसार, रणजी ट्राफी में केरल की पहली बड़ी में सुरेश कुमार की अहम भूमिका थी. तब टीम ने साल 1994-95 में तमिलनाडु को मात दी थी. सुरेश ने 164 रन देकर 12 विकेट हासिल किए थे. इसके बाद 1995-96 के सत्र में रणजी ट्रॉफी के मैच में राजस्थान के खिलाफ उन्होंने हैट्रिक भी हासिल की थी


.

सहवाग बोले-3 साल से एक भी अर्धशतक नहीं, 10 करोड़ से ज्यादा में बिका, मेरी समझ से परे है ये खिलाड़ी

250 से ज्यादा विकेट, 2005 में संन्यास

सुरेश कुमार ने झारखंड के खिलाफ रणजी ट्रॉफी मैच के बाद साल 2005 में क्रिकेट से संन्यास ले लिया था. उसके बाद वह रेलवे के साथ काम करने लगे थे. सुरेश ने अपने करिरय में 72 प्रथम श्रेणी मैच खेले, जिनमें उन्होंने 196 विकेट चटकाए. इस दौरान उन्होंने 51 लिस्ट ए मैचों में भी हिस्सा लिया. सीमित ओवर प्रारूप् में केरल के इस दिग्गज स्पिनर ने 52 खिलाड़ियों को पवेलियन की राह दिखाई.

हाल ही में 27 साल के मुंबई के खिलाड़ी ने दी थी जान



कुछ महीने पहले ही मुंबई के एक स्थानीय खिलाड़ी ने भी आत्महत्या की थी. मुंबई रणजी टीम को नेट्स पर गेंदबाजी करने वाले करन तिवारी ने गोरेगांव स्थित अपने घर में जान दी थी. 27 साल के करन तिवारी डिप्रेशन की समस्या से जूझ रहे थे.

(IPL 2020 की सबसे खास कवरेज मिलेगी TV9 भारतवर्ष पर. देखिए हर रोज: 'रेगिस्तान में महासंग्राम)

No comments:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages