योगी सरकार ,अब घर-घर से खोज निकालेंगे कोरोना के मरीचो को - www.fxnmedia.com

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

Saturday, July 11, 2020

योगी सरकार ,अब घर-घर से खोज निकालेंगे कोरोना के मरीचो को


लखनऊ: राज्य सरकार ने कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए डॉक्टरों की एक टीम को घर-घर जाने को कहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संदिग्ध लक्षणों वाले लोगों के नमूने लेने और परीक्षा के बाद अस्वस्थ पाए गए लोगों के समुचित इलाज की व्यवस्था करने के लिए एक घर-घर चिकित्सा जांच के लिए कहा है।
मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर एक उच्च स्तरीय बैठक में अनलॉक प्रणाली की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविद -19 की रोकथाम इस बीमारी का इलाज है। इसलिए मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का इस्तेमाल बहुत जरूरी है। लोगों को कोविद -19 के बचाव के लिए लगातार जागरूक रहने का निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि इसके लिए सार्वजनिक पता प्रणाली, पोस्टर-बैनर के साथ-साथ प्रिंट और इलेक्ट्रॉनिक मीडिया का उपयोग किया जाना चाहिए।
मुख्यमंत्री ने परीक्षण क्षमता को लगातार बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि RTPCR विधि से रोजाना 30 हजार परीक्षण, रैपिड एंटीजन टेस्ट के माध्यम से रोजाना 15 हजार से 20 हजार और ट्रूनेट मशीन के माध्यम से रोजाना 2 हजार परीक्षण किए जाने चाहिए। उन्होंने कोविद अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या बढ़ाने के भी निर्देश दिए हैं। गैर-रोगसूचक कोविद-संक्रमित रोगियों का इलाज एल -1 कोविद अस्पताल में किया जा सकता है।


मुख्यमंत्री ने कहा कि कानपुर नगर, झांसी और मथुरा में विशेष सतर्कता की आवश्यकता है। झांसी में विशेष सचिव स्तर के नोडल अधिकारियों और स्वास्थ्य विभाग और चिकित्सा शिक्षा विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों को संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए एक प्रभावी रणनीति तैयार करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए, ट्रेन और विमान द्वारा आने वाले यात्रियों की चिकित्सा जांच की बेहतर व्यवस्था सुनिश्चित की जानी चाहिए। उन्होंने पुलिस और पीएसी कर्मियों को संक्रमण से सुरक्षित रखने के लिए सभी आवश्यक उपाय करने के निर्देश दिए।

 मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता लोगों को कई बीमारियों से सुरक्षित रखती है। स्वच्छता के कार्य में जन भागीदारी की बड़ी भूमिका है। उन्होंने ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में स्वच्छता, फागिंग और स्वच्छता की प्रभावी कार्रवाई करने का निर्देश दिया।


मुख्यमंत्री ने कहा कि यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि कहीं भी जलभराव न हो। शुद्ध पेयजल के लिए पाइप पेयजल योजनाओं का प्रभावी क्रियान्वयन। पीने के पानी में क्लोरीन की गोलियां आदि का उपयोग करना चाहिए। ग्राम पंचायतों में सामुदायिक शौचालयों का तेजी से निर्माण होना चाहिए। 

No comments:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages