ढोल दमाऊ पर गढ़वाली भाषा मे सरस्वती वंदना/ओम बधाणी की विद्यालयों में बच्च... - www.fxnmedia.com

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

बुधवार, 27 मई 2020

ढोल दमाऊ पर गढ़वाली भाषा मे सरस्वती वंदना/ओम बधाणी की विद्यालयों में बच्च...




खबर उत्तराखड जगत की , मित्रों कोरोना काल मे दिल्ली,देहरादून स्टूडियो में जाकर गीत रिकॉर्डिंग करना मुश्किल हो गया है, अतः आपदा को अवसर में बदलते हुए माननीय प्रधानमंत्री श्री मोदी जी की इच्छानुसार आत्मनिर्भरता की ओर कदम बढ़ाते हुए मैं खुद की लिखी,कम्पोज़ की हुयी स्वयं गायी हुयी व खुद उत्तरकाशी में रिकॉर्ड की हुयी सरस्वती वंदना ढोल दमाऊं की ताल पर गढ़वाली भाषा व लोक शैली में प्रस्तुत कर रहा हूँ,



 इस प्रस्तुति का मेरा मुख्य उद्देश्य यह है कि हमारे हर विद्यालयों में गढ़वाली भाषा मे भी प्रातःकाल प्रार्थना हो इससे बच्चे अपने लोक व भाषा दोनों से जुड़ेंगे और हमारी भाषा का प्रचार होगा ।अब इस लोकल के लिए वोकल होने का उत्तरदायित्व आपका है ,मुझे आशा है आप इसे अधिक से अधिक शेयर करेंगे और हर विद्यालय में यह प्रार्थना बच्चों द्वारा नित्य गायी जायेगी ।। धन्यवाद -Om Badhani uttarkashi 


Fxn Media Delhi  

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages