श्रम कानून में छूट देने पर घिरी योगी सरकार, प्रियंका बोलीं मजदूर देश निर्माता हैं, आपके बंधक मजदूर नहीं है - www.fxnmedia.com

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

शुक्रवार, 8 मई 2020

श्रम कानून में छूट देने पर घिरी योगी सरकार, प्रियंका बोलीं मजदूर देश निर्माता हैं, आपके बंधक मजदूर नहीं है





लखनऊ। लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश मेंआर्थिक गतिविधियों को पुनर्जीवित करने के लिए योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है और विभिन्न श्रम कानूनों से राज्य के उद्योगों को छूट देने के लिए एक अध्यादेश को मंजूरी दी है। यूपी की योगी सरकार के फैसले पर कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने इसका विरोध किया हैं।
प्रियंका गांधी ने ट्वीट कर कहा है, '' 


यूपी सरकार द्वारा श्रम कानूनों में किए गए बदलावों को तुरंत रद्द किया जाना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि आप मजदूरों की मदद करने के लिए तैयार नहीं हो। आप उनके परिवार को कोई सुरक्षा कवच नहीं दे रहे। अब आप उनके अधिकारों को कुचलने के लिए कानून बना रहे हो। मजदूर देश निर्माता हैं, आपके बंधक नहीं हैं। 






बता दें लॉकडाउन के बीच उत्तर प्रदेश सरकार ने आर्थिक गतिविधियों को पुनर्जीवित करने के लिए योगी सरकार ने बड़ा फैसला लिया है और विभिन्न श्रम कानूनों से राज्य के उद्योगों को छूट देने के लिए एक अध्यादेश को मंजूरी दी है। यह छूट तीन साल के लिए प्रभावी होगी। इस अध्यादेश के चलते कंपनियां कभी भी किसी को नियुक्त कर सकती हैं और कभी की किसी को हटा सकती हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में बुधवार को हुई बैठक में कैबिनेट ने इसे मंजूरी देने दी।  




बता दें इससे पहले उत्तर प्रदेश के अमेठी और रायबरेली जिले में श्रमिक स्पेशल ट्रेन से मजदूर लाए गए इसके बाद कांग्रेस महासचिव प्रियंका ने ट्वीट कर कहा है था कि ''हमने रायबरेली व अमेठी के डीएम से दूसरे राज्यों से आए लोगों की सूची मांगी है, जिससे हम टिकट के पैसे उन्हें दे सकें। यहां के लिए दो सहायता नंबर भी हैं, जिन पर टिकट की फोटो, पता भेजने से कांग्रेस आपका रेल भाड़ा अदा करेगी।'' मालूम हो कि केन्‍द्र सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरों को उनके घर पहुंचाने के लिए मजदूर स्‍पेशल ट्रेन चलाई थी और कुछ किराया निर्धारित किया था जिस पर कांग्रेस सुप्रीमों सोनिया गांधी ने मजदूरों की यात्रा के टिकट का खर्च कांग्रेस पार्टी द्वारा उठाए जाने का ऐलान किया था।
source: oneindia.com 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages