उत्तर-पश्चिम की ओर 17 मई (रविवार) तक बढ़ सकता है यहां आने वाला है भयंकर तूफान, 190 किलोमीटर/घंटे की रफ्तार से चलेगी हवा मौसम विभाग की बड़ी चेतवानी - www.fxnmedia.com

Breaking

Home Top Ad

Responsive Ads Here

Post Top Ad

Responsive Ads Here

रविवार, 17 मई 2020

उत्तर-पश्चिम की ओर 17 मई (रविवार) तक बढ़ सकता है यहां आने वाला है भयंकर तूफान, 190 किलोमीटर/घंटे की रफ्तार से चलेगी हवा मौसम विभाग की बड़ी चेतवानी




अगले 24 घंटे में होगा खतरनाक अम्फान
ओडिशा के 12 जिलों में अलर्ट
नई दिल्ली : भारत मौसम विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को अनुमान जाहिर किया है कि बंगाल की खाड़ी में डिप्रेशन अगले 12 घंटों में तेजी के साथ चक्रवाती तूफान में बदल सकता है और इसके बाद 24 घंटों में यह एक गंभीर चक्रवाती तूफान में बदल सकता है।
बंगाल की खाड़ी की ओर बढ़ सकता है तूफान


क्षेत्रीय विशेषीकृत मौसम विज्ञान केंद्र में वैज्ञानिक आनंद दास के अनुसार, चक्रवाती तूफान 'अम्फान' प्रारंभ में उत्तर-उत्तर-पश्चिम की ओर 17 मई (रविवार) तक बढ़ सकता है और फिर उत्तर-पश्चिम की ओर बंगाल की खाड़ी में 18 से 20 मई के दौरान पश्चिम बंगाल तट की ओर बढ़ सकता है।
190 किमी प्रतिघंटे की हो सकती है रफ्तार


19 मई की सुबह से ओडिशा में 65 किलोमीटर की रफ्तार से हवा चल सकती है। हवा की रफ्तार लगातार बढ़ सकती है। सोमवार पश्चिम बंगाल के तटीय इलाके में हवा की रफ्तार 60-70 किलोमीटर प्रति घंटा रह सकती है। जबकि जिस दिन ये तूफान तय से टकराए उस दिन हवा की रफ्तार 190 किलोमीटर प्रति घंटे तक पहुंच सकती है।
मौसम विभाग ने अगले पांच-छह दिनों के लिए अंडमान सागर, आंध्र प्रदेश, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तटों पर मौसम खराब रहने की चेतावनी दी है। अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, ओडिशा और गंगीय पश्चिम बंगाल में हल्की से मध्यम वर्षा होगी।


ओडिशा सरकार ने तटीय क्षेत्र के 12 जिला कलेक्टरों को संभावित स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा है। उन्होंने कहा, समुद्र की स्थिति दक्षिण व निकटवर्ती बंगाल की खाड़ी और अंडमान सागर में अशांत होगी, जिसके कारण मछुआरों को 15 मई, 2020 से दक्षिण और मध्य महासागर में नहीं जाने की सलाह दी गई है। उन्होंने कहा, जो लोग समुद्री क्षेत्र में हैं, उन्हें आज शाम तक वापस लौटने की सलाह दी गई है।
इस बीच आईएमडी के उत्तर-पश्चिम मौसम विज्ञान केंद्र के प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव ने कहा कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में 17 मई शाम को बारिश होगी।



उन्होंने कहा, उत्तर भारत में तापमान 21 से 22 मई (गुरुवार, शुक्रवार) को 42 डिग्री तक बढ़ जाएगा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

Post Bottom Ad

Responsive Ads Here

Pages